Democracy becomes stock market : Gladson Dungdung (Part 2)

:: न्‍यूज मेल डेस्‍क ::

हमारा लोकतंत्र बना शेयर बाजार : ग्‍लैडसन डुंगडुंग। पत्रकार किसलय से बातचीत के दूसरे भाग में ग्‍लैडसन ने क्‍या कुछ कहा: - जयपाल सिंह का नारा 'अबुआ दिशुम, अबुआ राज' आज नहीं रहा!.. आज है, 'अबुआ दिशुम, दिकुआ राज'.. - झारखंड में सीएनटी एसपीटी ऐक्ट को खत्’ करने की साजिश चल रही है!.. - लोकतंत्र तो आदिवासियों के खून में है.. लेकिन एलेक्शन हमारे इलाकों पर थोपा गया, नतीजतन गांव गांव में भ्रष्टाचार घुस गया.. - हमारे राज्पाल केंद्र के एजेंट भर हैं.. - ट्राइबल ऐडवाइजरी कॉउन्सिल की गठन प्रक्रिया में जबरदस्त सुधार की जरूरत है। - आज हमारे देश का लोकतंत्र शेयर बाजार बन गया है! यही कारण है कि देश में भ्रष्टाचार इतना बढ़ा है। - चुनाव में धन लगाते हैं पूंजीपति ताकि बाद में राज्‍य के संसाधनों पर उनका कब्जा हो.. - क्‍यों बिक जाते हैं आदिवासी सांसद, विधायक? रोकने का उपाय बता रहे हैं ग्लैडसन.. उपरोक्‍त इंटरव्‍यू का पहला भाग यहां देखें : https://youtu.be/OqEmXoZ0X9U इस वीडियो पर आपकी सकारात्‍मक टिप्‍पणी हमारे लिए प्रेरक होंगी। - किसलय (मोबाइल : 9431113111, 9334718437) / निर्देशक व संपादक Support us through Crowd Funding. Visit & donate at : https://www.patreon.com/factfold

Sections

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

Image CAPTCHA
Enter the characters shown in the image.