नीतिश के मंत्री मेवालाल का इस्‍तीफा: तेजस्‍वी ने कहा एक इस्‍तीफे से काम नहीं चलेगा!

:: न्‍यूज मेल डेस्‍क ::

पटना: बिहार की नई सरकार में शिक्षा मंत्री बनाए मेवालाल चौधरी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन पर शपथ ग्रहण के बाद से ही भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर विपक्षी पार्टियां और खास आरजेडी ने सवाल खड़े किए थे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उन पर कार्रवाई मांग की जा रही थी। इस बीच गुरुवार को पदभार ग्रहण करने के कुछ ही देर बाद मेवालाल चौधरी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनके इस्तीफे पर तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि महज एक इस्तीफे से बात नहीं बनेगी।

तेजस्वी ने ट्वीट किया- महज एक इस्तीफे से बात नहीं बनेगी
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने अपने लिखा, 'मा. मुख्यमंत्री जी, जनादेश के माध्यम से बिहार ने हमें एक आदेश दिया है कि आपकी भ्रष्ट नीति, नीयत और नियम के खिलाफ आपको आगाह करते रहें। महज एक इस्तीफे से बात नहीं बनेगी। अभी तो 19 लाख नौकरी,संविदा और समान काम-समान वेतन जैसे अनेकों जन सरोकार के मुद्दों पर मिलेंगे। जय बिहार, जय हिन्द।'

'आपका दोहरापन और नौटंकी अब चलने नहीं दी जाएगी?'
एक और ट्वीट में तेजस्वी यादव ने लिखा, 'मैंने कहा था ना आप थक चुके है इसलिए आपकी सोचने-समझने की शक्ति क्षीण हो चुकी है। जानबूझकर भ्रष्टाचारी को मंत्री बनाया थू-थू के बावजूद पदभार ग्रहण कराया घंटे बाद इस्तीफ़े का नाटक रचाया। असली गुनाहगार आप है। आपने मंत्री क्यों बनाया??आपका दोहरापन और नौटंकी अब चलने नहीं दी जाएगी?'

मेवालाल चौधरी को मंत्री बनाए जाने पर हमलावर थी आरजेडी
इससे पहले आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी मेवालाल चौधरी को मंत्री बनाए जाने को लेकर ट्वीट करके नीतीश कुमार को घेरा था। लालू प्रसाद यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में कहा गया था, 'तेजस्वी जहां पहली कैबिनेट में पहली कलम से 10 लाख नौकरियां देने को प्रतिबद्ध था वहीं नीतीश ने पहली कैबिनेट में नियुक्ति घोटाला करने वाले मेवालाल को मंत्री बना अपनी प्राथमिकता बता दिया। विडंबना देखिए जो भाजपाई कल तक मेवालाल को खोज रहे थे आज मेवा मिलने पर मौन धारण किए हैं।' हालांकि, आरजेडी मुखिया इस ट्वीट के अगले ही दिन मेवालाल चौधरी ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

एक दिन पहले नीतीश से मिले मेवालाल, अब दे दिया मंत्री पद से इस्तीफा
बुधवार शाम को ही बिहार के नवनियुक्त शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने मुख्यमंत्री आवास यानि एक अणे मार्ग पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। करीब आधे घंटे की इस मुलाकात के बाद से ही ये कयास लग रहे थे आखिर उनके बीच क्या बात हुई होगी। इसी बीच गुरुवार को मेवालाल चौधरी ने पद संभालते ही मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। मेवालाल चौधरी पर सबौर विश्वविद्यालय का कुलपति रहते हुए नियुक्ति घोटाले में मामला दर्ज हुआ था। ये केस भागलपुर ADG 1 के पास विचाराधीन है और फिलहाल चार्जशीट का इंतजार किया जा रहा है।

Sections

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

Image CAPTCHA
Enter the characters shown in the image.