श्रीनिवास का स्‍तंभ

आप बेरोजगारी, महंगाई, भूख, विस्थापन और कोरोना आदि का रोना रोते रहिये, धर्मान्धता फैलाने के लिए उनके पास एक से एक हथियार हैं, जो देश को बुनियादी मुद्दों से भटकाने के लिए कारगर हैं. ऐसा ही एक नया…

विधानसभा के आधिकारिक नतीजों से कुछ लोगों (मैं भी उनमें शामिल हूं) की निराशा का एक कारण शायद यह है कि हमने ‘बेवजह’ कुछ ज्यादा उम्मीद पाल ली थी. यदि कथित चुनावी गड़बड़ियों के आरोपों को गलत मान लें तो…

कतिपय मुसलिम देशों में फ्रांस के खिलाफ जारी आक्रोश प्रदर्शन निहायत अफसोजनक है. यह मुसलिम समुदाय पर जुनूनी/अतिवादी होने के पहले से लगते रहे आरोप को प्रकारांतर से पुष्ट करता है. गनीमत है कि भारतीय…

यह बात मैं बिना किसी दबाव या प्रलोभन या किसी ख़ास मंशा  के कह रहा हूं. और मुझे इसे लेकर कोई अपराध बोध या ग्लानि भी नहीं है. सच तो यह है कि मेरे  गांव/इलाके (भागलपुर) में गांजा या भांग का सेवन करना…

चीन सीमा पर हुई हिंसा के कारण भारतीय मीडिया से अमेरिका और पश्चिमी देशों में जारी रंगभेद और नस्लभेद विरोधी आंदोलन अचानक नेपथ्य में चला गया है. इसलिए इसी विषय पर एक लेख मैंने बीच में ही रोक दिया.…

(संदर्भ : लॉकडाऊन में फंसे लोगों को वापस लाने का मामला) उत्तराखंड में फंसे तीर्थयात्रियों और कोटा में फंसे उप्र के छात्रों को लक्जरी बसों में वापस लाने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने अब लॉकडाउन के…

दिल्ली चुनाव के नतीजे आना अभी बाकी है. इसलिए अभी महज एक्जिट पोल के आधार पर जनादेश का विश्लेषण करना मुनासिब नहीं है. लेकिन इस पर विचार जरूर किया जा सकता है कि यदि भाजपा जीत जाती है तो क्या होगा; और…

बहुतेरे 'समझदार', खांटी संघियों के अलावा भी, कह रहे हैं कि सीएए और एनआरसी में अंतर है. कि एनआरसी से मतभेद हो सकता है, सीएए में क्या गड़बड़ी है? कि सीएए से किसी भारतीय मुसलिम को कोई नुकसान नहीं होगा…

कहा/माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की पीठ के सर्वसम्मत फैसले का एक आधार एएसआई की रिपोर्ट है, जो उसने विवादित स्थल की खुदाई के बाद पेश की थी. लेकिन फैसले की जितनी जानकारी सामने आयी है…

(दूसरी बार और पिछली बार से अधिक मतों से जीत कर भारत के प्रधानमंत्री बने व्यक्ति में कुछ बात तो होनी ही चाहिए. नरेंद्र मोदी में भी हैं)

मैं मोदी जी का प्रशंसक नहीं हूं. यह सर्वविदित भी है.…