नीतीश सरकार में विभाग बंटे : बीजेपी को 21 और जेडीयु को 20 मिले

:: न्‍यूज मेल डेस्‍क ::

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शपथ ग्रहण के बाद मंत्रियों के बीच विभागों का भी बंटवारा कर दिया है। पहली कैबिनेट बैठक के बाद कल शपथ लेने वाले सभी मंत्रियों को उनके मंत्रालयों कr जिम्मेदारी सौंप दी गई है। सीएम नीतीश कुमार ने पहले की तरह ही गृह अपने पास रखा है। वहीं, सुशील मोदी के पास पिछली सरकार में जितने भी मंत्रालय थे, उनकी जिम्मेदारी बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को सौंप दी गई है।

विभाग बंटवारे को देखकर यह साफ-साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि बीजेपी और जेडीयू के बीच भी विभागों का बंटवारा संपन्न हो गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सामान्य प्रशासन, गृह, मंत्रिमंडल सचिवालय, निगरानी, निर्वाचन विभाग अपने पास रखा है।

बीजेपी के कोटे में आने वाले मंत्रालयों की हात करें तो तारकिशोर प्रसाद के पास वित्त विभाग, वाणिज्य कर, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, सूचना प्रौद्योगिकी, आपदा प्रबंधन के अलावा नगर विकास एवं आवास विभाग हैं। इसके साथ ही रेणु देवा के हिस्से में पंचायती राज, पिछड़ा वर्ग एवं अतिपिछड़ा कल्याण के साथ-साथ उद्योग मंत्रालय की भी जिम्मेदारी है। 

यह भी पढ़ें- नीतीश सरकार में मंत्रियों को मिला प्रभार, गृह विभाग सीएम के पास, यहां देखें पूरी लिस्ट

इसके अलावा बीजेपी के कोटे में ही स्वास्थ्य, कला संस्कृति एवं युवा के साथ-साथ पथ निर्माण विभाग है। जिनकी जिम्मेदारी फिलहाल मंजल पाण्डे के पास है। अमरेंद्र प्रताप सिंह को कृषि, सहकारिता और गन्ना उद्योग की जिम्मेदारी दी गई है। रामप्रीत पासवान को लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है। वहीं, जिवेश मिश्रा को फिलहाल श्रम संसाधन, पर्यटन के साथ-साथ खान एवं भूतत्व मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है। बीजेपी के ही राम सूरत कुमार को राजस्व एवं भूमि सुधार और विधि मंत्रीलय की जिम्मेदारी मिली है।

जेडीयू की बात करें तो पिछली सरकार की तुलना में इस साल कम मंत्रालय आया है। नीतीश कुमार ने अपने सिपहसलार और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी को ग्रामीण कार्य, संसदीय कार्य, ग्रामीण विकास, जल संसाधन और सूचना एवं जनसंपर्क मंत्रालय की जिम्मेदारी दी है। वहीं, बिजेन्द्र प्रसाद यादव को उर्जा के अलावा ‘मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन’, योजना एवं विकास के साथ-साथ खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है। नीतीश कुमार ने जेडीयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधर को भवन निर्माण के साथ-साथ समाज कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और अल्पसंख्याक कल्याण मंत्रालय का भार दिया है। वहीं, मेवालाल चौधरी को शिक्षा और शीला कुमार को परिवहन मंत्री बनाया गया है।

बीजेपी और जेडीयू के अलावा मंत्रिमंडल में शामिल हुई वीआईपी और हम को भी विभाग सौंप दिए गए हैं। जीतनराम मांझी के बेटे संतोष कुमार सुमन को नीतीश कुमार ने अपनी कैबिनेट में लघु जल संसाधन और अनुसूचित जाते/जनजाति कल्याण मंत्री बनाया है। वहीं, मुकेश सहनी को पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री बनाया गया है।

Sections

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

Image CAPTCHA
Enter the characters shown in the image.