विकास दुबे के पोस्‍टर चिपकाने का क्‍या फायदा जब पुलिस उसे सामने खड़ा देखकर भी पहचान न सकी

:: न्‍यूज मेल डेस्‍क ::

फरीदाबाद: फरीदाबाद में विकास दुबे पुलिस के सामने था और पुलिसवाले उसे पहचान न सके या फिर? सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि कैसे पुलिस के आने से पहले वह एक ऑटो में सवार होकर भाग गया। फुटेज में विकास रोड पर खड़ा ऑटो का इंतजार करता दिखता है। मिठाई की एक दुकान के सामने खड़ा विकास करीब पांच मिनट तक वहां इंतजार करता रहा। उसने देख लिया था कि मिठाई की दुकान पर कैमरा लगा है इसलिए वहां से हट गया मगर तबतक उसकी तस्‍वीरें कैद हो चुकी थीं। पहले दो ऑटो ने उसे नहीं बिठाया। तीसरे ऑटो में वह बैठा और चला गया। उसने काले रंग की शर्ट, जींस और मास्क पहना हुआ था। उसके कंधे पर एक बैग भी देखा गया है। माना जा रहा है कि वह अपना सामान लिए इधर-उधर छिपता फिर रहा है। जिस इलाके में विकास को देखा गया, वहां के एक शख्‍स ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि पुलिस ने विकास को देखा था मगर पहचान नहीं सकी।

'अंकुर' बनकर होटल में रुका था विकास
विकास दुबे असल में बदखल चौक इलाके में स्थित एक छोटे होटल में रुका था। होटल के कर्मचारियों के अनुसार, विकास ने अपनी पहचान अंकुर के रूप में कराई थी। पुलिस टीम के होटल पहुंचने से पहले ही विकास वहां से फरार हो गया। उसके कुछ सहयोगी वहां से पकड़े गए हैं। दिल्‍ली-एनसीआर में कई जगहों पर उसकी तलाश की जा रही है। वेस्‍टर्न यूपी के कई जिलों में भी विकास और उसके गुर्गों का पता लगाया जा रहा है।


सरेंडर करने की फिराक में है विकास
उत्‍तर प्रदेश पुलिस की तेज धरपकड़ से घबराए विकास को राज्‍य छोड़ना ही ठीक लगा। फरीदाबाद में होने से उसकी मंशा सरेंडर करने की लग रही है। विकास के वकील भी सक्रिय हो गए हैं। विकास दुबे को डर है कि अगर यूपी पुलिस के हत्‍थे चढ़ा तो उसका एनकाउंटर तय है। इसीलिए उसने दिल्‍ली-एनसीआर का रुख किया है। यहां पूरे देश का मीडिया है, इतने तामझाम के बीच एनकाउंटर मुश्किल होगा। दूसरी बात यह भी है कि यूपी के भीतर कहीं भी रहना उसके लिए खतरे से खाली नहीं था।

दिल्‍ली-एनसीआर में ही छिपा है विकास!
विकास दुबे के फरीदाबाद के एक होटल में छिपे होने की खबर थी। यूपी एसटीएफ ने फरीदाबाद पुलिस को लोकेशन भेजी मगर पुलिस के पहुंचने से पहले ही विकास फरार हो गया। दो घंटे तक चली रेड में दुबे के सहयोगियों के साथ पूछताछ की गई। पुलिस को शक है दुबे दिल्‍ली-एनसीआर में ही कहीं छिपा हो सकता है।

दिल्‍ली में सरेंडर कर सकता है विकास
फरीदाबाद के होटल में विकास दुबे को देखे जाने के बाद इस बात की चर्चा जोरों पर है कि विकास दिल्‍ली की किसी अदालत में सरेंडर कर सकता है। उसे यूपी पुलिस के हाथों एनकाउंटर का डर है। इसकी भनक लगते ही पुलिस की टीमों ने दिल्‍ली-हरियाणा की उन अदालतों पर नजर रखनी शुरू कर दी है जहां विकास दुबे के सरेंडर करने की संभावना है।

यूपी कोर्ट में क्‍यों सरेंडर नहीं कर रहा विकास?
सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे को यूपी में अपनी जान का खतरा सता रहा है। उसे यह भी डर है कि यूपी की अदालतों में उसकी सुनवाई नहीं होगी इसलिए वह बाहर की अदालत में सरेंडर करना चाहता है।

मारा गया विकास दुबे का राइट हैंड
विकास दुबे का एक खास गुर्गा अमर दुबे मुठभेड़ में मार गिराया गया है। स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (STF) की एक टीम ने हमीरपुर में हुए एनकाउंटर में अमर को ढेर किया। वह कानपुर शूटआउट के बाद से ही फरार चल रहा था। वह उस रात विकास के साथ ही था। अमर पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। बताया जाता है कि हमीरपुर में अमर किसी रिश्‍तेदार के यहां छिपने आया था।

फरीदाबाद से तीन युवक अरेस्‍ट, पूछताछ जारी
फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने तीन युवकों को गिरफ्तार है। इनमें एक कानपुर के बिकरू गांव का रहने वाला है। बाकी दो फरीदाबाद की एक कालोनी के निवासी हैं। इनसे विकास को लेकर पूछताछ की जा रही है।

पहले दिल्‍ली फिर फरीदाबाद गया विकास
पुलिस के मुताबिक, कानपुर शूटआउट के बाद दुबे दिल्‍ली आया, उसके बाद वह फरीदाबाद गया। यूपी एसटीएफ के लोग पहले दिल्‍ली के बदरपुर स्थित एक होटल गए थे। वहां विकास के बारे में कोई खबर नहीं मिली। फिर विकास के फरीदाबाद में होने का इनपुट मिला। बताया जा रहा है‍ कि जिस होटल में विकास छिपा था, वो उसी का है।

फरीदाबाद में पुलिस आज देगी जानकारी
विकास दुबे केस में लेटेस्‍ट अपडेट क्‍या है इसकी जानकारी आज पुलिस देगी। फरीदाबाद में पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है जिसमें होटल रेड और ताजा सुरागों के बारे में अपडेट दी जा सकती है।

वेस्‍टर्न यूपी में भी डेरा डाले है पुलिस
पुलिस की टीमों ने विकास दुबे की तलाश के लिए पश्चिम यूपी के तमाम जिलों में डेरा डाल रखा है। विकास की तलाश के लिए वेस्ट यूपी और बुंदेलखंड के कुछ इलाकों में एसटीएफ टीमों को लगाया गया है।
विकास के रिश्‍तेदारों के यहां दब‍िश दे रही पुलिस
यूपी पुलिस विकास दुबे के आपराधिक पृष्ठभूमि वाले रिश्तेदारों पर दबिश दे रही है। जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश के शहडोल से विकास दुबे के साले ज्ञानेंद्र प्रकाश को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने तोड़ा विकास का घर, कारें
2 जुलाई की रात को जब विकास दुबे के घर पर पुलिस टीम दबिश देने गई थी तो उसपर हमला हो गया था। आरोप है कि विकास और उसके साथ‍ियों ने निर्ममता से आठ पुलिसकर्मियों की हत्‍या कर दी। घटना के बाद पुलिस ने, कानपुर के बिकरू गांव में विकास के घर को जमींदोज कर दिया था। उसकी गाड़‍ियां भी चकनाचूर कर दी गई थीं।

कानपुर शूटआउट में शामिल एक और आरोपी गिरफ्तार
कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या केस में आरोपित प्रभात उर्फ कार्तिकेय मिश्रा गिरफ्तार। 25 हजार रुपये का था ईनाम। क्राइम ब्रांच ने तीन युवकों को किया गिरफ्तार। इनमें एक कानपुर के बिकरू गांव का रहने वाला है। दो फरीदाबाद की एक कालोनी के निवासी हैं। इनके कब्जे से 4 पिस्टल बरामद हुई हैं।
पछताएगा विकास, ऐक्शन बनेगा नजीरः पुलिस

मारा गया विकास दुबे का राइट हैंड
विकास दुबे का एक खास गुर्गा अमर दुबे मुठभेड़ में मार गिराया गया है। स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (STF) की एक टीम ने हमीरपुर में हुए एनकाउंटर में अमर को ढेर किया। वह कानपुर शूटआउट के बाद से ही फरार चल रहा था। वह उस रात विकास के साथ ही था। अमर पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। बताया जाता है कि हमीरपुर में अमर किसी रिश्‍तेदार के यहां छिपने आया था। फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने भी तीन युवकों को गिरफ्तार है। इनमें एक कानपुर के बिकरू गांव का रहने वाला है। बाकी दो फरीदाबाद की एक कालोनी के निवासी हैं। इनसे विकास को लेकर पूछताछ की जा रही है।

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

Image CAPTCHA
Enter the characters shown in the image.